DSC_0008.JPGDSC_0028.JPGDSC_0057.JPGDSC_0072.JPGDSC_0145.JPGDSC_0156.JPGDSC_0194.JPGDSC_9196.JPGDSC_9231.JPG

श्री सोमनाथ संस्कृत में Students Start-up and Innovation Policy (SSIP) के क्रियान्वयन हेतु विश्वविद्यालय स्तरीय एक समिति का गठन किया गया है। इस समिति की संरचना इस प्रकार है-

क्रम महानुभाव का नाम पद
१.

मान. कुलपतिश्री

श्री सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय, वेरावल

अध्यक्ष
२.

श्री विपुलभाई जादव

सहायक आचार्य, पुराण विभाग

श्री सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय, वेरावल

सदस्य
३.

डॉ. जानकीशरण आचार्य

सहायक आचार्य, दर्शन विभाग

श्री सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय, वेरावल

समन्वयक सदस्य

Student Startup and Innovation Policy का लक्ष्य -

  • विश्वविद्यालय में नवोन्मेष और उद्योग-उद्भावन की सम्भावनाओं को स्थापित कर उन्हें क्रियान्वित करना ।
  • विश्वविद्यालयों में इस तरह का वातावरण बनाना जिससे कम से कम १% स्नातक नवोन्मेष और उसके सह साधनों से उद्योग सर्जक बने ।
  • विश्वविद्यालय और एवं इससे सम्बद्ध को नवोन्मेष और उसके सह साधनों को सृजित करने के लिये सशक्त बनाना ।

Student Startup and Innovation Policy (SSIP) योजना के अन्तर्गत आवेदन भेजना -

  • Start-up/Projects अग्रलिखित विषयों से सम्बन्धित हो सकते हैं - मन्दिर व्यवस्थापन, योग, पौरोहित्य, पुराण इत्यादि।
  • श्री सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय एवं इससे सम्बन्धित महाविद्यालयों के छात्र इस योजना के अन्तर्गत स्वीय Start-up/project आदि शुरु करना चाहते हैं तो ऐसे छात्र स्वीय Start-up/project आदि का विवरण लिखकर विश्वविद्यालय स्तरीय SSIP समिति के समन्वयक के पास भेज सकते है।